PM Rojgar Protsahan Yojana 2023: क्या है? प्रधानमंत्री रोजगार योजना – All Useful

PM Rojgar Protsahan Yojana |

Pradhanmantri Rojgar Protsahan Yojana | पीएम रोजगार प्रोत्साहन योजना  |

दोस्तों आज के समय में देश में बेरोजगारी की दर बहुत ज्यादा तेजी से बढ़ती जा रही है | इसी बेरोजगारी की समस्या को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार के द्वारा बेरोजगार युवाओं को रोजगार देने के लिए अनेक योजनाओं को शुरू किया जा रहा है | प्यारे दोस्तों आज हम आपको ऐसी ही एक योजना से जुड़ी आवश्यक जानकारी देने के लिए जा रहे हैं, जिस योजना का नाम है PM Rojgar Protsahan Yojana| प्रिय मित्रों हमारे इस लेख में आपको इससे जुड़ी सारी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हो जाएगी |

जैसे कि प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना क्या है? इसके लाभ क्या हैं? किसकी विशेषता, आवेदन करने की प्रक्रिया, आवश्यक दस्तावेज और पात्रता आदि | तो मित्रों अगर आप प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना 2022 से जुड़ी सारी आवश्यक जानकारी लेना चाह रहे हैं, तो आपसे निवेदन है कि आप हमारे इस आर्टिकल को ध्यान पूर्वक अंत तक जरूर पढ़ें |

PM Rojgar Protsahan Yojana

PM Rojgar Protsahan Yojana 2022 क्या है?

 इस स्कीम के नियोक्ताओं को नए रोजगार सर्जन करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए शुरू की गई है | सरकार के द्वारा इस योजना के अंतर्गत नियोक्ता का ई पी एफ आर ई पी एस  का भुगतान भी किया जाएगा | इस योजना को 1 अप्रैल 2018 से शुरू किया गया था |सरकार के द्वारा इस योजना के अंतर्गत 8.33% ईपीएस का योगदान करा जाएगा | और 3 पॉइंट 6 7 परसेंट ईपीएफ का योगदान कर आ जाएगा | प्रधान मंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना का लाभ केवल न्यू रोजगार के लिए ही है | इस योजना के अंतर्गत एक तरफ एंपलॉयर को रोजगार सर्जन करने पर इंसेंटिव दिए जाएंगे | और दूसरी तरक इस योजना के जरिए से रोजगार के अवसर भी उत्पन्न होंगे |

PM Rojgar Protsahan Yojana

PM Rojgar Protsahan Yojana का विस्तार का विवरण

यह योजना देश भर में रोजगार को आगे बढ़ाने के लिए या बढ़ावा देने के लिए शुरू की गई थी | सरकार के द्वारा इस योजना के अंतर्गत 3 सालों के लिए न्यू कर्मचारी की नियुक्ति पर 12% ईपीएफ और ईपीएस का भुगतान कराया जाएगा |सरकार के द्वारा नियुक्त की तरफ से ईपीएफओ के जरिए से यह भुगतान कराया जाएगा | राज्य और श्रम रोजगार मंत्रालय के मंत्री संतोष कुमार गंगवार जी के द्वारा 10 मार्च 2021 को इसकी घोषणा करी जा चुकी है | PM Rojgar Protsahan Yojana का लाभ अब 1.21 करोड़ लाभार्थियों तक विस्तार पूर्वक किया जाएगा |

वह सारे लाभार्थी जिन्होंने 31 मार्च 2019 से पूर्व रजिस्ट्रेशन करवा लिया था, उन्हें भी इस योजना का लाभ 3 सालों तक दिया जाएगा | सारे नियोक्ता न्यू रोजगार सर्जन के लिए इस योजना के माध्यम से प्रोत्साहित होंगे | जिससे कि बेरोजगारी की दर में गिरावट आ सके और देश के नागरिक सशक्त एवं आत्मनिर्भर बन सकें |

PM Rojgar Protsahan Yojana का मुख्य उद्देश्य

 जैसे कि आप सभी देती है जानते हैं कि इस योजना का मुख्य उद्देश्य यह है कि देश में रोजगार के अवसर को उत्पन्न करना है | सरकार के द्वारा इस योजना के अंतर्गत नियोक्ता का ईपीएस और पीएफ कंट्रीब्यूशन किया जाएगा |जिसकी वजह से नियोक्ता को नए रोजगार देने के लिए प्रोत्साहित करा जाएगा | इस योजना के माध्यम से जो है वह बेरोजगारी की दरों में भी गिरावट आ जाएगी और देश के व्यक्ति आत्मनिर्भर भी बन सकेंगे | PM Rojgar Protsahan Yojana के जरिए से देश की अर्थव्यवस्था में भी बहुत ज्यादा सुधार आ जाएगा और देश सशक्तिकरण की और आगे बढ़ पाएगा |

PM Rojgar Protsahan Yojana 2022 की हाइलाइट्स

योजना का नामPM Rojgar Protsahan Yojana
किस ने लांच कीभारत सरकार
लाभार्थीभारत के नागरिक
उद्देश्यरोजगार के अवसर उत्पन्न करना
आधिकारिक वेबसाइटhttps://pmrpy.gov.in/
साल2022
सरकार का कंट्रीब्यूशनईपीएस में 8.33% तथा ईपी एफ में 3.67%
कब लॉन्च की1 अप्रैल 2018

प्रधानमंत्री रोजगार योजना के कुछ मुख्य तथ्य

  • प्रतिष्ठान इपीएफ एक्ट 1952 के अंतर्गत पंजीकृत होना बहुत जरूरी है |
  • प्रतिष्ठान के पास  वैलिड एल आई एन (LIN) नंबर होना जरूरी है |
  • पंजीकृत प्रतिष्ठान के पास संगठनात्मक पेन होना जरूरी है |
  • कंपनियां व्यवसाय के पास एक बैग बैंक अकाउंट भी होना आवश्यक है |
  • प्रतिष्ठान को ईसीआर प्रस्तुत करना बहुत जरूरी है |
  • 1 अप्रैल 2016 या फिर उसके बाद कर्मचारियों की संख्या में बढ़ोतरी होनी आवश्यक है |
  • सारी जरूरी शर्तों को पूरा करने के पश्चात सारे नए कर्मचारियों को इस योजना के तहत कवर किया जाएगा |
  • प्रतिष्ठान का पेन और लिंक नंबर का सत्यापन भी किया जाएगा |
  • यूएएन डेटाबेस के जरिए से नए कर्मचारी की सूचना का सत्यापन भी होगा |
  • यू ए एन सीडैड विद आधार नंबर का भी सत्यापन अवश्य किया जाएगा |
  • यह सत्यापन uidai या फिर ई पी एफ ओ डेटाबेस से करा जाएगा |
  • नियुक्त के बैंक के विवरण को भी ईपीएफओ के जरिए से सत्यापित करा जाएगा |
  • सभी प्रकार के सत्यापन करने के पश्चात सिस्टम के द्वारा संस्थान को देने वाली राशि की गणना भी की जाएगी |
  • ई पी एफ ओ के द्वारा एक मैनेजमेंट इनफार्मेशन सिस्टम का गठन भी कर आ जाएगा |
  • जो मिनिस्ट्री ऑफ लेबर एंड एंप्लॉयमेंट को एनालिटिकल रिपोर्ट प्रदान करेगी |
  • जिससे कि इस योजना के कार्यान्वयन प्रक्रिया सफलतापूर्वक हो सके |

प्रधान मंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना की विशेषताएं और लाभ

  • इस योजना को न्यू रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए शुरू कर आ गया है |
  • नेताओं को नए रोजगार सर्जन करने के लिए इस योजना के अंतर्गत प्रोत्साहित किया जाएगा |
  • सरकार के द्वारा यह प्रोत्साहन नियुक्त आओ का ईपीएफ और ईपीएस का भुगतान करके करा जाएगा |
  • इस योजना को 1 अप्रैल 2018 से शुरू किया गया है |
  • सरकार के द्वारा प्रधान मंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत 8.33% ई पी एस का योगदान करा जाएगा |
  • और 3.67% ईपीएफ का योगदान किया जाएगा |
  •  इस योजना का लाभ केवल न्यू रोजगार को ही प्रदान किया जाएगा |
  • असंगठित क्षेत्र में सामाजिक सुरक्षा लाभ इस प्रधान मंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना के जरिए से प्राप्त होंगे |
  •  इस योजना का लाभ केवल ईपीएफओ के तहत पंजीकृत प्रतिष्ठान ही ले सकते हैं |
  •  इस योजना का लाभ लेने के लिए प्रतिष्ठानों के पास श्रम सुविधा पोर्टल के तहत एल आई एन (LIN) नंबर होना आवश्यक है |
  • प्रधान मंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना का लाभ तभी दिया जाएगा जब कर्मचारियों का आधार यूएएन से लिंक होगा |
  • और उनकी सैलरी ₹15000 या फिर उससे कम होगी |
  • देश में बेरोजगारी की दर में इस योजना के जरिए से गिरावट आएगी |
  • सारे बेरोजगार नागरिक इस प्रधान मंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना के माध्यम से आत्मनिर्भर बनेंगे |
  • और देश की अर्थव्यवस्था में भी सुधार आ जाएगा |

प्रधान मंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना का पंजीकरण

श्रमिकों को संगठित क्षेत्र के सामाजिक सुरक्षा लाभ इस PM Rojgar Protsahan Yojana से प्राप्त होंगे | इस योजना का जो लाभ है वह सारे ईपीएफओ के अंतर्गत पंजीकृत प्रतिष्ठान ले सकते हैं | प्रतिष्ठानों के पांच लाभ लेने के लिए श्रम सुविधा पोर्टल के अंतर्गत एल आई एन (LIN) नंबर होना बहुत जरूरी है | इस योजना का जो लाभ है बहन आप कर्मचारी भी तभी ले सकते हैं जब उनका आधार यू ए एम से लिंक होगा |

तथा उनकी सैलरी ₹15000 या फिर उससे कम होनी अनिवार्य है |PM Rojgar Protsahan Yojana का लाभ लेने के लिए आपको किसी भी सरकारी ऑफिस के अब चक्कर काटने की बिल्कुल भी जरूरत नहीं पड़ेगी | क्योंकि आपको केवल इस की ऑफिशियल वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ेगा |

PM Rojgar Protsahan Yojana की पात्रता क्या है?

  • इस योजना के लिए आवेदक अभी तक भारत का स्थाई निवासी होना जरूरी है |
  • लाभ लेने वाला प्रतिष्ठान इस योजना के अंतर्गत ई पी एफ ओ के तहत पंजीकृत होना जरूरी है |
  • एल आई एन (LIN) नंबर प्रतिष्ठानों के पास होना जरूरी है |
  • और कर्मचारियों का आधार यूएएन से लिंक होना जरूरी है |
  • तथा कर्मचारियों की सैलरी न्यूनतम ₹15000 या फिर उससे कम होनी चाहिए |

PM Rojgar Protsahan Yojana के जरूरी दस्तावेज

 प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना में आवेदन कैसे करें?

  •  सबसे पहले आवेदक को PM Rojgar Protsahan Yojana की ऑफिशल वेबसाइट पर जाना पड़ेगा |
  •  वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होमपेज खुलकर आ जाएगा |
  •  होम पेज पर आपको आवेदन करें के लिंक पर क्लिक करना होगा |
  •  इसके बाद आपके सामने आवेदन फॉर्म खुलकर आ जाएगा |
  •  आपको आवेदन फॉर्म में पूछी गई सारी आवश्यक जानकारी सही-सही भरनी होगी |
  •  फिर आपको सारे आवश्यक दस्तावेजों को अटैच करना पड़ेगा |
  •  फिर इसके बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा |
  •  इस प्रकार से जो है आप अपना आवेदन कंप्लीट कर सकेंगे |
लॉगिन कैसे करें?
  •  सबसे पहले आपको PM Rojgar Protsahan Yojana की ऑफिशल वेबसाइट पर जाना पड़ेगा |
  •  फिर आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल कर आ जाएगा |
  •  इस होम पेज पर आपको लॉगइन के बटन पर क्लिक करना पड़ेगा |
  •  फिर आपके सामने एक और नया पेज खुल जाएगा |
  •  आपको इस पेज पर अपना एल आई एन / पी एफ कोड और पासवर्ड डालना होगा |
  •  फिर आप इस तरह से लॉगिन हो जाएंगे |
कॉन्टैक्ट इनफॉरमेशन-

प्यारे दोस्तों आज हमने अपने इस आर्टिकल के जरिए से आपको PM Rojgar Protsahan Yojana से जुड़ी सारी आवश्यक जानकारी दे दी है | अगर आप फिर भी किसी प्रकार की परेशानी का सामना कर रहे हैं, तो आप ईमेल लेकर अपनी परेशानी का समाधान स्वयं ही कर सकते हैं | ईमेल आईडी है | 

Leave a Comment